मेरी बहन के पति ने मुझे चोदा

मेरा नाम सपना है। मै मेरे जीजाजी को बहुत पसंद करती थी। एक बार मेरी आंखो में उन्होंने वासना देख ली थी। फिर उन्होंने मुझे अकेले पाकर मुझे चोदा।

Yeh kahani sex with sister husband category me aati hai, jise padhke apko bahot maja ane wala hai.

मै आपको मेरे बारे में बता देती हु। मेरा नाम सपना है। मै सूरत कि रहने वाली हूं। मेरी उमर 20 साल है।  मेरा फिगर देख कर लोग मुझे कहते है कि तुम बिलकुल सपना चौधरी के जैसी सेक्सी दिखती हो। मै अभी कॉलेज में पढ़ रही हूं। मुझे एक बड़ी बहन है। कुछ महीनो पहले ही उसकी शादी हुई है। 

मै जब 19 साल कि थी तब मेरा एक बॉय फ्रेंड था। हमारा रिश्ता बहुत प्यारा चल रहा था। वो बहुत स्मार्ट था। वो मुझसे 3 साल बड़ा था। वो मुझे हमेशा ही प्यार के वादे करता था। मै भी उसके प्यार में गिर गई थी।

उसने मुझे पहली बार चोदा था। उसके चोदने से मुझे बहुत मजा आया था। मै उससे शादी के ख्वाब देख ने लगी थी। क्योंकि मुझे ऐसा लगता था कि वो मुझे पूरी जिंदगी के लिए संतुष्ट कर सकता है।

उसने मुझे 3 बार चोदा था। लेकिन उसके बाद उसने मुझे छोड़ दिया था। शायद वो मेरा इस्तेमाल कर रहा था। उसने सारे वादे तोड़ दिए थे। लेकिन उसके चोदने कि वजह से मेरे अंदर सेक्स कि भूख तैयार हो गई थी। 

जब मेरी दीदी की शादी तय हुई थी। तब मुझे भी लगा कि कब मेरी शादी होगी।  मै कब सुहागरात मनाऊंगी। मै घर में सबको परेशान करने लगी थी कि मेरी भी शादी करा दो। सब लोग मेरी बातों को मजाक में लेते थे। लेकिन मै उनको बता नहीं सकती थी कि मुझे सुहागरात मनानी है।

मैंने जब मेरे जीजू को पहली बार देखा था तो  पहली ही नजर में मै उनकी पर्सनैलिटी कि दीवानी हो गई थी।

मेरे जीजू का नाम राहुल है। उनका कद लगभग 6 फीट का है। उनके अच्छे खासे डोले शोले है। उनका रंग गोरा है। वो किसी हीरो से कम नहीं लगते है। कोई भी लडकी उन्हें देख ले तो उनकी दीवानी हो जाए।

मै मेरी दीदी से जलने लगी थी। क्योंकि उनको इतने अच्छे संतुष्ट करने वाले पति मिले थे। मै जीजू की तरफ आकर्षित होने लगी थी।

शादी में उन्होंने मुझे आवाज दी। अरे सपना इधर तो आओ। अपने जीजू से बात तो कर लो थोड़ा। मै शर्मा रही थी। क्योंकि मेरे मन में तो वासना भरी हुई थी।

मै जीजू के पास गई। जीजू ने मेरी तारीफ़ की, जीजू बोले कि तुम बिलकुल सपना चौधरी के जैसी दिखती हो। मैंने बोला जीजू थैंक यू ऐसा मुझे सब लोग बोलते है।

वो बोले तुम फिल्मों में हीरोइन के लिए क्यूं नहीं चली जाती हो, मुझे पता है तुम कर सकोगी। मैंने कहा अरे जीजू अभी तो मै बहुत छोटी हु। वो बोले कि लड़की जब 16 कि हो जाती है तभी बड़ी हो जाति है। मै हंस दी।

जीजू मुझसे काफी अच्छी अच्छी बाते करने लगे थे। ऐसा लग रहा था कि हम पहले से ही एक दूसरे को जानते है। फिर मैंने भी जीजू से खुलके बात करना चालू कर दिया।

मैंने कहा जीजू आप तो बहुत अच्छे और स्मार्ट दिखते हो, तो आपकी कोई गर्ल फ्रेंड नहीं थी क्या। वो बोले अरे मेरी तो इतनी सारी गर्ल फ्रेंड थी कि मुझे याद भी नहीं। मैंने कहा अरे वाह…. फिर आपको तो सारी बातो का अच्छा अनुभव है। 

वो बोले सारी बातें मतलब कौनसी बाते। मैंने कहा जैसे लडकी को कैसे खुश रखा जाता है, ऐसी सारी बाते। उनको मेरे बोलने का अर्थ समझ गया था। फिर उन्होंने मुझे पूछा तुम्हें कोई बॉय फ्रेंड नहीं है क्या? मै बोली नहीं जीजू एक था, तो उसने मुझे धोका दिया था।

जीजू बोले फिर तुमने दूसरा बॉय फ्रेंड क्यूं नहीं बनाया। मैंने कहा अरे जीजू दूसरे बॉय फ्रेंड ने भी अगर धोका दिया तो? इसीलिए मै सीधा शादी करना चाहती हूं वो भी जल्दी से।

जीजू बोले तुम्हे शादी की इतनी जल्दी क्यों है। मैंने कहा शादी के बाद तो अच्छी अच्छी चीजें होती है ना। वो बोले तुम्हे क्या क्या  पता है जो शादी के बाद होता है। मै शर्मा गई और बोली कि अरे जीजू ये बाते बोलने की नहीं होती करने की होती है ना।

वो हंस पड़े। मैंने कहा सिर्फ आप दीदी को खुश करना। वो समझ गए थे मै किस बारे में बोल रही थी तो। वो बोले हां हां बिलकुल मै उसे पूरा खुश रखूंगा।

तब मेरे मुंह से अचानक निकल गया कि जीजू मै भी खुश रहना चाहती हूं लेकिन मुझे शादी के लिए बहुत टाइम है। वो बोले रुको मैं कुछ करता हूं। मैंने कहा आप खुश रखोगे मुझे। उन्होंने कहा अरे नहीं रे पगली। मै तुम्हारे शादी के लिए एक लड़का ढूंढता हूं। फिर उन्होंने मजाक में कहा कि अगर तुम चाहो तो मै भी तुम्हे खुश रख सकता हूं।

फिर वो शादी के लिए चले गए। यह पर बात अधूरी रह गई थी। जब वो शादी में बैठे हुए थे, तो मेरे मन में उन्होंने बोली हुई बात चल रही थी। मै उनको बोलना चाहती थी कि आप मुझे संतुष्ट कीजिए।

जब वो शादी के मंडप पे बैठे थे तो मेरे मन में ऐसा लग रहा था कि उनके साथ मेरी शादी हो रही है। ऐसा लग रहा था कि वो मेरे सामने नंगे खड़े है और मुझे मेरी हवस बुझाने के लिए बुला रहे है। 

मेरे मन में उनके लंड कि तस्वीर बन गई थी। मेरे मन में का उनका लंड 8 इंच का था। मेरे मन में ऐसा चल रहा था कि इतना बड़ा लंड मुझे कितना मजा देगा। मैंने तो यह तक सोच लिया था कि वो मुझे कौनसे कौनसे स्टाइल में चोदेंगे।

लेकिन मेरे सपनो पर पानी फेरा जा रहा था। मेरी आंखो के सामने ही उनकी शादी हो रही थी। जब दीदी की बिदाई हो रही थी तब मुझे रोना दीदी की बिदाई का नहीं बल्कि जीजू के दूर जाने से हो रहा था।

वो अपने घर चले गए। मै अपने विचारों में दो महीने तक तड़पती रही। जीजू के लंड को याद करके मै रोज अपनी चूत में ऊंगली डालती थी। 

दो महीने बाद मुझे जीजू के घर जाने का मौका मिला। वो चंडीगढ़ में रहते थे। उनके घर में सिर्फ मेरी दी और वो ही रहते थे उनका सारा परिवार गांव में रहता था।

मै रेल गाड़ी से चंडीगढ़ गई। मुझे लेने के लिए मेरी दीदी और जीजू दोनो आए थे। मेरी नजर सिर्फ जीजू पर ही थी। क्योंकि मै घर से ही सोच कर आई थी कि इस बार मै जीजू को मुझे चोदने के लिए मना लूंगी। और साथ में बेहोशी की गोली भी लाई थी।

वो दोनो मुझे देख कर बहुत खुश हुए। वो मुझे अपनी कार में घर लेके गए। उनका घर काफी बड़ा था। उन्होंने मुझे एक अलग कमरा दिया था।

मै अपने कमरे में गई और सोच ने लगी कि जीजू को कैसे मनाऊं। मैंने सोचा कि जब जीजू अकेले होंगे तब मै जीजू  को इस बारे में बोलूंगी। 

शाम हो रही थी। दीदी जीजू और मै हॉल में बैठ के बाते करने लगे।  उन्होंने मुझे पूछा कैसी हो। मैंने कहा ठीक हु जीजू। जीजू बोले सिर्फ ठीक हो। मैंने कहा हां ।

कुछ देर तक इधर उधर की बाते चली। फिर दीदी बोली तुम लोग बाते करो मै खाना बनाती हूं। कब से मै इसी समय का इंतजार कर रही थी। कि कब जीजू मुझे अकेले में मिलेंगे।

अब जीजू और मै अकेले थे दीदी किचन में गई थी। मैंने जीजू से धीरे से कहा, जीजू क्या आपको याद है आपने मुझसे क्या कहा था। जीजू बोले नहीं क्या कहा था मैंने।

मैंने बोला कि आपने कहा था ना कि मै चाहु तो आप मुझे खुश रख सकते हो। जीजू बोले अरे पागल मैंने तो मजाक में कहा था। मै बोली जीजू आपके लिए मजाक होगा लेकिन मै 2 महीने से तड़फ रही हूं। क्या आप मुझे खुशी दे सकते हो। 

जीजू बोले अरे सपना फिर तुम्हारी दीदी क्या बोलेगी। मैंने कहा मै बेहोशी की दवाई लाई हूं। आप सिर्फ उन्हें खाने में दे देना। जीजू मान गए। और बोले कि तुम तो पूरी तैयारी से आई हो। 

मुझे किचन में जाओ बोल कर जीजू कंडोम लेने चले गए। थोड़ी देर बाद जीजू आ गए। उन्होंने कंडोम मुझे अपने कमरे में छुपाने के लिए बोल दिया। मैंने वो कंडोम छुपा दिया। 

खाने का समय हो गया था। दीदी जीजू और मै खाना खाने बैठ गए थे। हम दोनो खाना ख़त्म होने की राह देखने लगे थे। हम दोनो कि अंतर्वासना अब ज्यादा इंतजार नहीं कर पा रही थी।

खाना ख़त्म हुआ, दीदी और जीजू अपने कमरे में सोने के लिए चले गए। मै दीदी के लिए बेहोशी की दवा डालके दूध ले कर गई। उन्होंने वो मेरे सामने ही पी लिया। 10 में बाद वो गहरी नींद में सो गई। अब पूरा घर जीजू और मेरा ही था।

मै जीजू का हाथ पकड़ के अपने कमरे में ले कर गई। जीजू बोले अरे आराम से सपना। मैंने कहा जीजू अब इंतजार नहीं हो पा रहा है।

कमरे में जाते ही जीजू मुझे चूमने लगे। मै भी उन्हें चूमने लगी। हम दोनो का सेक्स कीड़ा जाग चुका था। उन्होंने मेरे कपड़े उतारे मै सिर्फ ब्रा और चड्डी में उनके सामने खड़ी थी।

उन्होंने मेरी ब्रा निकाली और मेरी चूचियां चूसने लगे। मेरी आवाजे चालू हो गई थी। आह..आह…

कुछ देर वो मेरे बदन को चूमते और चाटते रहे मुझे बहुत मजा आ रहा था। फिर मैंने उनके कपड़े निकाले। फिर उनकी चड्डी निकाली तो सच में अंदर 7 इंच का काला सांप निकला। मै उनके लण्ड को देख कर बहुत खुश हुई। और बड़े ही प्यार से उसे अपने मुंह में ले लिया। और आराम आराम से सेक्स को फील करते हुए मै उसे चूसने लगी। वो बोले वाह…वाह.. क्या जबरदस्त चूस रही हो। मुझे बहुत मजा आ रहा है। मैंने कहा मुझे आपके लंड से प्यार हो गया है इसीलिए प्यार से चूस रही हूं।

कुछ देर चूसने के बाद उन्होंनेे मुझे बेड पर सुला दिया। और मेरी चड्डी उतारी। मेरी चूत को देख कर वो बोले कि सपना तुम्हारी चूत तो बहुत प्यासी लग रही है, इसने तो पूरा पानी छोड़ दिया है। मैंने कहा जीजू ये दो महीने की तड़फ का असर है। वो बोले ठीक सपना आज मै तुम्हे तुम्हारे इंतजार का फल दूंगा।

उन्होंने मेरी दोनो टांगे बाजुमे कि और मेरी चूत को प्यार प्यार से चाटने लगे। मेरी मादक आवाजे चालू थी। आह….आह….आह……। मै अपनी चूत को उठा उठाके उनके मुंह में डाल रही थी। वो मेरी चूत बहुत अच्छी तरह से चाट रहे थे। मुझे बहुत मजा आ रहा था। मैंने उनसे कहा जीजू आपको तो बहुत अनुभव लग रहा है सेक्स का। वो बोले मैंने बहुत सी लड़कियों की ख्वाहिश पूरी कि है।

कुछ देर चुसाई के बाद मैंने उनके लंड पर कंडोम लगा दिया। उन्होंने धीरे से मेरी चूत अपना लंड रखा। मुझसे बाते करते करते उन्होंने अंदर डाल दिया। मुझे बहुत दर्द हुआ। मै जोर से चिल्लाई। तो उन्होंने एक हाथ से मेरा मुंह दबाया। और दूसरे हाथ से मेरा बूब्स पकड़ा और आराम आराम से धक्के मारना चालू किया।

5 मि. तक मुझे दर्द होता रहा। फिर मुझे मजा आने लगा। 10 मि. कि ठुकाई के बाद मैंने उनको बोला अब स्टाइल बदलते है। उन्होंने बोला ठीक है। आओ डॉगी स्टाइल में तुम्हे चोदता हू।

मै पलट कर झुक गई। उन्होंने बोला कि सपना तुम्हारी गांड बहुत अच्छी है। मैंने बोला थैंक यू जीजू अब चोदिये। उन्होंने मेरी चूत में लंड डाल दिया और मुझे चोदने लगे। अब उनके धक्के थोड़ा जोर से चलने लगे थे। मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था। 20 मि. कि ठुकाई के बाद मै झड़ गई। फिर भी वो मुझे चोदते रहे। मुझे मजा आ ही रहा था। 5 मि. बाद वो भी मेरी चूत में झड़ गए। 

इस तरह जीजू ने मेरी महीनो कि प्यास बुझाई। मेरी बहन के पति ने मुझे चोदा।

कहानी कैसी लगी नीचे कॉमेंट करे

Related Stories

दोस्त के गर्लफ्रेंड की चुदाई

सभी पाठको का सेक्स दुनिया पर स्वागत है। मेरा नाम चुलबुल है। मै बनारस का रहने वाला हु। मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है। लेकिन मै अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड पर लाइन मारता था। मै उसे चोदना चाहता था। ये मेरी ख्वाहिश पूरी हुई थी। मै आपको आज उसी girlfriend cheating के बारे में बताने वाला

पूरी कहानी पढ़ें »

भाभी ने उसके बहन के लडकी की चुदाई मुझसे कराई।

भाभी सेक्स स्टोरीज में पढ़े कि मेरा चक्कर एक शादीशुदा भाभी से चल रहा था। उसका पति काम के सिलसिले में बाहर ही रहता था। भाभी की वासना को मिटाने काम मेरा ही था।  एक बार भाभी की बहन कि लड़की मतलब भाभी की भतीजी उसके घर एक महीने के लिए आई थी। तब उसने

पूरी कहानी पढ़ें »

साली की चुदाई। भाग २

हेलो दोस्तो साली की चुदाई (Sister in law sex) भाग 2 में आपका स्वागत है। उमीद करता हूं की आपको मेरे साली की चुदाई भाग १ बहुत पसंद आई होगी। और जिन्होंने भाग १ नहीं पढ़ा है, उनके लिए मै नीचे लिंक दे रहा हु। Sex With Sister in law -Part 1 भाग १ में

पूरी कहानी पढ़ें »