सीधी साधी लडकी की वासना

मैंने अपने school की कुछ लड़कियों से सेक्स के बारे में जाना, एक लड़की की चुदाई अपनी आँखों के सामने देखी, फिर मैंने Sex Duniya के बारे में जाना और इस साईट पर कहानी पढ़ कर अपनी चूत में उंगली की। उसमे मैंने एक कुंवारे चूत कि चुदाई कि कहानी पढ़ी।

जिसे पढ़कर मुझे ऐसा लगा कि मुझे भी अपनी सेक्स कि कहानी आप लोगो को बताना चाहिए। उम्मीद करती हु की, आपको मेरी सेक्स कि कहानी बहुत पसंद आयेगी।

रात को मैंने और एक कहानी पढ़ी और अपनी चूत में उंगली की।

अगले दिन मैं सुबह उठी तो मैं बहुत खुश थी।

फिर school जाने के लिए मैं मोहिनी के घर आ गयी। हम एक साथ जाने लगे। तब रास्ते में मैंने मोहिनी को सब बताया जो मैंने रात में अपनी कुंवारी चूत के साथ किया था desi chudai। और जो मुझे मजा मिला था।

मेरी बात सुन कर तो वो चौंक गयी कि अभी तक मुझे इन सबके बारे में कैसे पता नहीं था?

मैंने मोहिनी से पूछा कि तू भी करती है क्या?

तो वो बोली यार, मुझे तो चूत में बिना उंगली करे नींद ही नहीं आती। लेकिन अब मुझे उंगली करने में उतना मज़ा नहीं आता. अब मुझे असली वाला लंड चाहिए।

मैंने कहा की तू कोई boyfriend बना ले।

तो वो बोली मै बना तो लूं … मगर अगर मेरे घर पता चल गया तो परेशानी हो जाएगी। इसीलिए मुझे डर लगता है।

फिर वो बोली की मुझे सौरभ जैसा लड़का चाहिए जो चूत की ऐसी desi chudai करे कि चूत में दर्द हो जाये। और मुझे मजा आ जाए।

मैं बोली की तू सौरभ को ही पटा ले क्योंकि तू है भी बहुत सेक्सी!

मोहिनी भी उस वक्त मेरी ही उम्र की थी, १९ साल की जवान लड़की जो किसी का भी लंड खड़ा कर सकती है। तो वो बोली की यार मिनल ने पहले ही उसे पटा रखा है। तुमने तो देखा ही था कि कल कैसे उसने मिनल की गांड फाड़ चुदाई की थी।

हालांकि कल मिनल की chudai देखने के बाद से और रात में उंगली करने की वजह से मुझे भी सौरभ से खुदकी चुदाई करने का मन होने लगा था। मगर मैंने अपने मन पर control रखा। लेकिन मोहिनी ने बाद में सौरभ को पटा कर चुदवा लिया था, खैर वो कहनी कभी बाद में।

फिर school में ऐसे ही उंगली करते हुए कई महीने निकल गए। तब मुझे एक लड़के ने propose किया था। उसका नाम आशिष था। वह लगभग ५.८ फुट का hot सा लड़का था। उसके साथ मेरा affair चल पड़ा क्योंकि मुझे desi chudai करने का बहुत मन था।

एक बार वो school में मेरे पास आया और बोला कि जान हम कब तक ऐसे school में मिलते रहेंगे? मुझे तुमसे बाहर कहीं मिलना है। तो मैंने उसको शाम को ७:०० बजे वहीं बुलाया जहाँ मिनल ने सौरभ से खुद को चुदवाया था।

school के बाद वो आ गया और मेरा इंतज़ार कर रहा था।

जैसे ही मैं वहाँ पहुँची, उसने मुझे अपनी बांहों में खींच लिया। और मुझे kiss करने लगा। वो मेरी Jindagi का पहला kiss था। उसने जैसे ही मेरे होंठों पर अपने होंठ रखे, मेरा पूरा शरीर कांप उठा।

फिर मैं भी उसका साथ देने लगी। फिर उसने मेरे Boobs दबाने शुरू कर दिए।

अब मेरी हवस भी बढ़ती दिख रही थी। उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया। फिर मैंने उसका लंड पैंट के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया।

फिर उसने अपना लंड बाहर निकाला और मुझे चूसाईं के लिए बोला तो मैंने मना कर दिया। फिर उसने मेरी शर्ट उतारने के लिए बटन खोलने शुरू कर दिए। उसका लंड मेरे हाथ में था। उसने मेरी शर्ट के बटन खोल दिये। अब मैं उसके सामने ब्रा पर आ गयी।

मुझे बहुत शर्म आ रही लेकिन अब मैं उस लड़के से Pyar करने लगी थी इसलिये मै उसे किसी चीज़ को मना नहीं कर रही थी।

फिर उसने मेरी ब्रा हटा कर मेरे Boobs चूसने शुरू कर दिए। मैं कामुकतावश उसका लंड जोर जोर से हिलाने लगी। फिर वो मेरे Boobs चूस रहा था। और एक हाथ मेरी चूत में डालने लगा।

तभी अचानक किसी के आने की आहट हुई तो हम दोनों वहां से भाग गए। उसके बाद हमने theater में भी बहुत मज़े किए। उसने मेरी चूत में उंगली भी की, मेरे Boobs भी चूसे। मैंने उसका लंड सहलाकर उसका पानी निकाल दिया। मगर अब हमें चुदाई करने का मौका नहीं मिल रहा था। ऐसे ही चुम्मा चाटी करते हुए school पूरा हो गया लेकिन हम कभी desi chudai नहीं कर पाए।

फिर वो Graduation करने के लिये दूसरे शहर चला गया। क्योंकि मैं उससे बहुत ज्यादा प्यार करने लगी थी तो मैं उसके गले लग कर बहुत रोई थी। लेकिन वो मुझे अकेला छोड़ कर चला गया।

उसके बाद मैंने किसी के साथ कुछ नहीं किया और मैं अपनी Graduation के लिए चेन्नई आ गयी। यहां 3 साल ऐसे ही निकल गए, किसी के साथ कोई Affair नहीं चला। लेकिन कॉलेज में बहुत सारे लड़कों ने मुझे पटाने की कोशिश की क्योंकि कॉलेज में आते आते मेरा फिगर किसी के भी लंड से पानी निकालने के लिए बहुत था।

लेकिन ना मैं किसी के करीब गयी और

ना मैंने किसी को अपने करीब आने दिया।

फिर मैं M.B.A करने के लिए दूसरे कॉलेज में चली गयी। वहाँ मैं पहली बार कॉलेज गयी तो वहाँ मैं Form जमा करने की Line में लगी हुई थी। Form जमा करने के बाद मैं कॉलेज से निकल ही रही थी तो अचानक से किसी ने पीछे से मेरी आँखें बंद कर दी। मैं चौंक गयी तो वो लड़का बोला पहचानो मुझे मै कौन?

उसकी आवाज सुनकर मैं और ज्यादा चौंक गयी, मुझे मेरे कानों पर विश्वास नहीं हो रहा था। मैंने उसको बोला आशिष?

और जैसे ही वो मेरी आँखों पर से हाथ हटा कर मेरे सामने आया तो मुझे थोड़ा झटका लगा। वो आशिष मेरा पुराना Boyfriend था।

मैं उसके गले लग गई, उसने भी मुझे गले से लगा लिया और बोला मेरी जान, क्या गजब माल लग रही हो अब!

 मैं शर्मा गयी।

फिर वो मुझे एक सुनसान जगह ले गया। वहां कोई नहीं था। वहां जाकर वह मुझे Kiss करने लगा। उसे kiss करके, और अपने पुराने प्यार को वापस पाकर मेरी हवस बहुत Time बाद फिर से जाग गयी। हमने थोड़ी देर चुम्मा चाटी की और वहां से निकल गए।

कुछ दिन हम ऐसे ही Kissing करते रहे।

एक दिन वो बोला सुपर्णा यार, मुझे तेरी चूत चाहिए, वरना मैं पागल हो जाऊंगा। मेरी हँसी छुट गयी। फिर मैं वहां से चली गयी।

एक दिन उसने मुझे सुबह Call किया और बोला की आज कॉलेज मत जाना, कहीं बाहर चलेंगे। मैंने ठीक है बोलकर Call बंद कर दिया। 

मैं समझ गयी थी कि बहुत इंतजार के बाद आज मेरा कुंवारापन खत्म होने वाला है।

तो मैंने नहाते हुए अपने आप को अच्छी तरह साफ किया। मतलब चूत के बाल और बगल के बाल साफ किये। और पूरी चिकनी हो गयी थी। एक Sexy Dress पहनकर मैं कॉलेज के लिए निकल गयी।

कॉलेज के Gate पर मुझे आशिष मिला। वो मुझे अपने साथ Car में ले गया। रास्ते में उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया। मैंने शर्म के मारे हाथ हटा लिया।

फिर थोड़ी देर बाद हम Puducherry रोड पर आ गए। मैंने आशिष से पूछा हम कहां जा रहे हैं? तो उसने बताया कि हम Puducherry जा रहे हैं। जो लोग चेन्नई के आस पास रहते हैं, वो जानते होंगे कि चेन्नई से Puducherry के सफर लगभग चार घंटे का है।

इसी बीच आशीष ने एक जंगल में अपनी कार एक कच्चे रास्ते में मोड़ दी और लगभग दो किलोमीटर दूर जाकर कार रोक दी। वो जोर जोर से मुझे किस करने लगा मैंने भी उसका साथ दिया। उसने जोर जोर से मेरे Boobs दबाने शुरू कर दिए।

उस दिन मैंने Slivless T-Shirt और जीन्स पहनी हुई थी, अंदर ब्रा और चड्डी दोनों थी।

आशिष ने तेजी से मेरी T-Shirt उतार दी। अब मैं ब्रा में उसके सामने थी, मुझे डर लग रहा था। क्योंकि कोई भी हमें ऐसे देख सकता था। यह बात मैंने आशिष को बताई तो उसने कहा कोई नहीं आएगा। 

फिर उसने Kiss करते वक्त हाथ पीछे ले जाकर मेरी ब्रा भी उतार दी। मैं पहली बार किसी लड़के के सामने ऐसे नंगी हो रही थी।

वो मेरे Boobs चूसने लगा बल्कि यूँ कहूँ कि खाने लगा। मुझे दर्द हो रहा था मगर मज़ा भी बहुत आ रहा था।

मैंने आशिष का लंड बाहर निकाला और उसे हिलाने लगी। फिर आशिष ने मेरी जीन्स उतार दी। अब मैं केवल चड्डी में उसके सामने थी।

मेरी गोरी चिकनी टांगें देखकर वो बौखला गया और मेरी जांघें चाटने लगा। मेरे मुँह से बस आह….. अहह…. हहह….. उहह…… निकल रहा था।

फिर आशिष ने मेरी चड्डी उतार दी और अपनी जेब में रख ली. अब मैं पूरी ऊपर से नीचे तक उसके सामने नंगी थी। और मैं उससे अपनी चूत छुपा रही थी। लेकिन आशिष ने मेरी जांघों को पकड़कर अलग अलग कर दिया जिससे मेरी चूत उसके सामने आ गयी।

मैंने शर्म के मारे अपने चेहरे पर हाथ रख लिये।

फिर आशिष ने मेरी चूत पर एक किस किया और मेरी चूत चाटने लगा। मैं तो जैसे आसमान में उड़ रही थी। एक हाथ से वो मेरे Boobs दबा रहा था, दूसरे हाथ से मेरी जांघें सहला रहा था और जीभ से चूत चाट रहा था। मैं बस उसका लंड सहला रही थी।

फिर उसने मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोला। मैंने मना कर दिया। फिर उसने मुझे पीछे की सीट पर सुला दिया। और अपने लंड पर Condom चढा लिया। और देखते ही देखते उसने मेरी गीली चूत में अपना लंड घुसा दिया। मै जोर से चिल्लाई। तो उसने मेरे मुंह पर हाथ रख लिया।

मेरी चूत से खून निकला। वो उसके लण्ड पर दिख रहा था। फिर उसने मुझे आराम आराम से चोदना चालू किया। मुझे बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था। 10 मिनट तक मुझे बहुत दर्द होता रहा। फिर मुझे desi chudai का आनंद मिलना चालू हुआ।

वो मुझे 1 घंटे तक जोर जोर से, आराम आराम से, ऊपर से, नीचे से… सब तरीके से चोदता रहा। इतने में वो 3 बार झड़ चुका था। और मै भी 5 बार झड़ चुकी थी। 

लेकिन मुझे बहुत समय बाद चुदाई का आनंद मिला था। तब मै बहुत खुश थी। खुशी से मै उसे 20 मिनट तक kiss करती रही। फिर अगले कुछ सालों तक आशीष मुझसे दूर नहीं गया। और मुझे जब भी जरूरत होती थीं तब तब वो मुझे चुदाई से संतुष्ट कर देता था।

कहानी कैसी लगी इस बारे में नीचे comment करे।

Related Stories

Real Masi Sex Stories – रियल मासी सेक्स स्टोरीज

real masi sex stories में पढ़ें कि मैं अपनी चूलती मासी के घर रह कर नौकरी कर रहा था। मेरा मौसा शिपिंग कम्पनी में था। वो साल में एक दो बार ही घर आते थे। नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम सुरेश है। मेरी उम्र तेईस साल की है। मेरी हाइट 5 फिट 9 इंच की है

पूरी कहानी पढ़ें »

Randi Sex Randikhane Me – रंडी सेक्स रंडीखाने में

Randi Sex कहानी मे पढ़िये कि कैसे मौसी ने मुझे बना दिया रंडीखाने की रंडी। मौसी randi sex का काम करती थी। हम लोग 8 बजे मौसी के कमरे में थे। मौसी ने मेरे और सुमन के लिए कमरे में ही खाना ला लिया। खाने में मुर्गे की टांगें और कलेजी थी। मौसी बोली लो

पूरी कहानी पढ़ें »

मेरी पत्नी की चूत और गांड

मेरा नाम वेदांत है और मेरी उम्र 32 साल है। यह मेरी पहली और Real Sex Story है। Antarvasna पर मै हमेशा ही Hindi Sex Stories पढ़ता हु। मैंने Antarvasna पर कहानी पढ़ी सेक्स कि भूखी चूत को चोदकर वासना मिटाई। जिसे पढ़ कर मुझे भी लगा कि मै आपके साथ मेरी पत्नी की cheating

पूरी कहानी पढ़ें »