सहेली की सहेलियां

सेक्स दुनिया सभी पाठको को मेरा नमस्कार। मैंने बहुत सी लड़कियों को चोदा है। लड़कियां मुझसे खुदको चुदवाने के लिए मुझसे मिन्नते करती है। group sex story in hindi भी कहानी कुछ ऐसी ही है।

यह कहानी है मेरी Facebook पर मिले दोस्त अपर्णा की है। अपर्णा सेक्स दुनिया की पाठिका है। वो मेरी कहानियाँ हमेशा पढ़ती है। वो फेसबुक पर मेरे सेक्स दुनिया के पेज पर है। उसने कुछ दिनो तक मुझसे फेसबुक पर लगातार मैसेज पर बात की थी। और फिर एक दिन उसने मुझे मेरा वॉट्सएप का नंबर मांगा। और मुझसे व्हाटसएप पर बात करने को कहा।

हम दोनों व्हाटसएप दोस्त बन गए। उसको पता था कि मेरा सेक्स में बहुत ज्यादा इंटरेस्ट है। इसीलिए वो मुझसे हर रोज़ व्हाटसएप पर सेक्स चैट करती थी। जैसे कि आपको पता ही है कि मैं मैसेज पर चूत का पानी निकालने में पूरी तरह माहिर हूँ। और अपर्णा तब तक चैट करती जब तक उसकी चूत का पानी दो बार ना निकल जाता। group sex story in hindi

अपर्णा ने मेरा व्हाटसएप नंबर अपनी दो ख़ास सहेलियों को भी दे रखा था। और उनके साथ मिल कर व्हाटसएप पर एक ग्रुप बनया था। जिसमें वो सब मुझसे सेक्सी सेक्सी बातें करती थी। और मुझसे सेक्स कि थोड़ी जानकारी भी पूछती थी। सभी की सभी अभी कुंवारी थी। उनकी शादी अभी नहीं हुई थी। उन सब की उमर २२ साल की थी।

वैसे तो अपर्णा ने बताया था कि उसकी चूत एक लड़के ने खोल दी है जो उसका बॉयफ्रेंड था। लेकिन वो ज्यादा देर तक अपर्णा से रिश्ता बना कर न रख सका। और फिर उसने अपर्णा छोड़ दिया।

आज कल उन तीनों का बातें करने का एकमात्र जरिया बस मैं ही था। जैसे कि मेरे सभी पाठको को पता है कि मैं हर एक लडकी को जो भी मेरी नयी दोस्त बनती है, उन्हें हमेशा यही कहता हूँ कि मैं सिर्फ आपका दोस्त बनकर रहूँगा, और अपना प्यार वाला चक्कर किसी और से चलाना, मेरी इसी बात को वो सभी पसंद करती थीं। और आजकल तो दोस्त भी बॉयफ्रेंड का काम कर देते है।

एक दिन मुझे अपर्णा का फ़ोन आया कि हम तीनों आपसे मिलना चाहती हैं। और हो सके तो आप हमसे मिलना। यहाँ मैं एक बात बता दूँ कि वो मेरे से चालीस किलोमीटर दूर ही एक शहर में रहती हैं। group sex story in hindi

मैंने उनसे मिलने के लिए दिन सोमवार का दिन तय कर दिया। अपर्णा ने मुझे अपनी दूसरी सहेली जिसका नाम काजल है, उसके घर पर मिलने को कहा, क्योंकि काजल के घर पर सोमवार को कोई नहीं था। क्योंकि उसके घर के सभी नौकरी करते थे।

मैं सोमवार को उनके बताये पते पर पहुँच गया। उनका घर एक गली के अंदर था तो मुझे कार काफी दूर खड़ी करनी पड़ी। लेकिन मुझे पता था कि कुछ भी हो सकता है। group sex story in hindi इसीलिए मैंने पहलेहीं कंडोम अपने साथ ले लिया।

मैंने जैसे ही उनके घर की घंटी बजाई तो अपर्णा मुझे गेट पर लेने आई। हम पहली बार रहे थे। वो बहुत खूबसूरत लग रही थी। ऐसा लग रहा था कि वो सिर्फ मेरे लिए सज कर आई हो।

हम दोनो घर के अंदर चले गए। उसने मुझे सोफे पर बिठाया। और चाय पानी के साथ मुझसे बातें करने लगी।

कुछ देर बाद उसने एक आवाज़ लगायी और उसकी सहेली काजल और एक और सहेली जिसका नाम शीतल था, उन दोनों को बुलाया। मेरी उनके साथ जान पहचान करवाई। वो दोनो मुझसे शरमा रही थी। सिर्फ अपर्णा ही मुझसे खुलकर बात कर रही थी। शीतल सबसे खूबसूरत थी। लेकिन बूब्स काजल के बड़े बड़े लग रहे थे और अपर्णा पूरा फिगर ही अच्छा लग रहा था।

अपर्णा ने बात करते हुए बोला कि राकेश, हम सब व्हाटसएप और फ़ोन पर सेक्स चैट करते हैं, तो हम सभी ये चाहती हैं कि एक बार हम असली में सेक्स करें। मेरी सहेलियों का कहना है कि मेरी सील टूटी होने की वजह से हम दोनों सेक्स करें और ये दोनों हमको सेक्स करते हुए देखेंगी।

मैंने कहा ठीक है। मैं आपके साथ सहमत हूँ, लेकिन मेरी एक शर्त है!

ऐसा बोलते ही वो सभी एक साथ मेरी तरफ देखने लगीं।

तो मैंने उनका आश्चर्य दूर करते हुए आगे कहा कि मैं चाहता हूँ कि जब हम सेक्स करें तो ये दोनों भी बिल्कुल नंगी होकर बाकी अंगों से हमारा साथ देंगी। और इनका मन जब तक नहीं करता तब तक मै इनकी चूत में अपना लंड नहीं डालूंगा।

वो दोनों हिचकने लगीं तो मैंने कहा कि देखो, अगर आप मेरे हर अंग को नंगा देखोगी, और हम सभी चुदाई की बातें करते हैं, तो अब इसमें क्या परेशानी है। वैसे भी तो हम सभी चुदाई की सीधी बातें करते ही हैं। और फिर अपर्णा ने भी उन्हें थोड़ा समझाया और फिर वो मान गयीं।

हम चारों एक पलंग पर एक साथ बैठे थे। मैंने सबसे पहले अपर्णा को किस किया और मैंने अपर्णा के होंठों को अपने होंठों में ले लिया। मैं उसके बूब्स को उसके कपड़े के ऊपर से दबाने लगा। इससे अपर्णा थोड़ी गरम हो गयी।

मैंने ऐसे ही एक एक करके काजल और शीतल को भी किस किया और उनके होंठों को थोड़ी देर के लिए चूसा। सबसे अच्छा किस मुझे शीतल का लग रहा था। उसने अपने होटों को स्ट्रॉबेरी फ्लेवर का लिपस्टिक लगाया था। मेरे होंठ चूसने से उनके अंदर वासना की लहर दौड़ गयी और तीनों की ही शर्म थोड़ी देर के बाद उड़ गयी क्योंकि हम सभी आपस में फ़ोन पर गालियाँ वगैरा और गंदी बाते कर लेते थे। इसलिए अब हमें कोई दिक्कत नहीं थी।

तभी शीतल काजल को देखती हुई बोली कि मादरचोद साली … अब हीरो से मज़े ले ले आज। यहाँ एक बात बता दूँ कि अपर्णा के अलावा वो दोनों मुझे हीरो कहकर बुलाती हैं।

तभी मैंने शीतल की गांड थपथपाते हुए कहा कि साली बहन की लौड़ी, उससे ज्यादा जल्दी तो तुझे लगती है चुदने कि। मेरी तरफ देखती हुई शीतल बोली कि तू बहनचोद अपना काम कर, देखती हूँ आज तेरे लंड में कितना दम है।

मैंने शीतल को पकड़ कर उसकी गांड पर झापड़ लगाई और बोला कि दिखाऊं अपने लंड का दम साली? तेरी गांड और चूत दोनों फट जायेंगी … वो भी अभी!

तभी काजल बोली- हाँ हीरो, फाड़ दो इसकी चूत, ये वैसे भी रोज़ आपको याद कर करके अपनी चूत में उंगलियां डालती है।

मैंने कहा- ओह, ऐसी बात है क्या? group sex story in hindi

अपर्णा ने सभी को कहा- अरे छोड़ो ये सबी … अब हमारे पास आज वक्त बहुत कम है। यहाँ हम सिर्फ तीन घंटे के लिए ही हैं, इसलिए इतने कम समय में सभी को सब कुछ ज़ल्दी करना होगा और अगर आज सब कुछ अच्छा लगा तो हम कहीं और बढ़िया वाला प्लान करेंगे।

मैंने कहा ठीक है। तो बताओ क्या करें अब?

तो अपर्णा ने सभी को एकदम नंगे होने को बोला- सभी अपने अपने कपड़े खुद ही उतार लो ताकि हमें कम समय लगे।

सभी अपने अपने कपड़े उतारने लगे।

मैंने अपने कपड़े तो उतार दिए लेकिन अंडरवियर नहीं उतारा।

तभी काजल बोली- हीरो, आप भी नंगे हो जाओ न। मैंने कहा की अरे मेरी रानियो, तुम किस लिए हो? कर देना मुझे नंगा बेबी!

सभी हंसने लगे।

तो मैंने सभी को कहा कि देखो, जैसे जैसे मैं कहता जाऊं, तुम सब वैसे वैसे ही करना, उस हिसाब से हम सभी को एक साथ मज़ा भी आएगा। सभी ने हां बोल दी।

मैंने सबसे पहले काजल को अपने पास बुलाया और उसके बूब्स को किस किया, उसकी चुचियों को चूसना शुरू कर दिया। मेरे लिए ये बात कुछ नई नहीं थी। लेकिन उनको बहुत मजा आ रहा था।

ऐसे ही मैंने तीनों लड़कियों के साथ किया। मैंने शीतल के बूब्स भी चुसे और अपर्णा के चूचियां और गर्दन भी चूसी।

फिर मैंने अपर्णा की चूत को मुंह में लिया। उसकी लाल चूत पर एक भी बाल नहीं था। मैंने उसकी चूत के लाल लाल दाने से लेकर उसके गांड़ तक और उसके अंदर तक सभी जगह अच्छी तरह चाट लिया। अपर्णा आहें भरने लगी थी।

अब मेरे अंडरवियर को काजल ने उतार दिया। उसके बाद मैंने शीतल की चूत के अंदर जीभ डाली। जब शीतल आहें भरने लग गयी तो मैंने काजल की चूत में जीभ डाली और ऊपर से काजल के बूब्स भी पकड़ लिए।

अब काजल पूरी तरह मेरी गिरफ्त में थी। काजल जोर जोर से आहें भर रही थी, उसका तो पानी निकलने वाला था।

मैंने उसकी चूत चूसते हुए जीभ बाहर निकाल कर कहा कि ला साली निकाल अपना रस … बहन की लौड़ी … मादरचोद … निकाल अपना पिशाब! कुतिया देख … तुम्हारे हीरो का लंड और जीभ तुम्हारे पास है!

अब सभी पूरी तरह गरम हो चुके थे।

फिर अपर्णा ने सभी को समझाया। काजल की चूत पर शीतल की जीभ लगवा दी, शीतल की चूत पर मेरी जीभ लगा दी और मेरे लंड को खुद चूसने लगी और अपनी चूत उसने काजल के मुंह में दे दी।

मेरा लंड गीला होने के बाद मैंने काजल और शीतल को एक दूसरे के साथ सेक्स करने के लिए बोल दिया। और मैंने अपना लंड अपर्णा की चूत में डाल दिया। मेरा लंड अंदर जाते ही अपर्णा मादक भरी आवाजे निकलने लगी। मै अपर्णा के बूब्स पकड़ कर उसे जोर जोर से चोदने लगा।

मैंने उसे 20 मिनट तक चोदा। अपर्णा झड़ गई थी। फिर मैंने उसकी चूत से अपना लंड निकाला। और काजल और शीतल से पूछा कि तुम दोनो में से चुदना कौन चाहता है। लेकिन दोनो ने मना कर दिया। और बोला कि अगली बार तुमसे पक्का खुदको चुदवाएंगे।

फिर मैंने अपर्णा को डॉगी स्टाइल में किया। और उसकी चूत में फिर से अपना लंड डाल दिया। काजल और शीतल को हमे ऐसा देख कर बहुत मजा आ रहा था। मै उसे और 15 मिनट तक चोदता रहा। और 15 मिनट बाद मै कंडोम में उसकी चूत में झड़ गया। 

काजल और शीतल अपर्णा को चुदते हुए देख बहुत खुश थी। ऐसा मैंने अपर्णा को उन दोनो के सामने चोदा। फिर मै वहा से चला गया। अगले ही दिन मुझे शीतल का फोन आया कि क्या तुम अगले सोमवार को फिर से आ सकते हो। इसबार काजल और मै भी तुमसे चुदना चाहती है।

मैंने उन दोनो के लिए हां बोल दी। और अगले सोमवार को फिर से उसके घर चला गया।  लेकिन वो कहानी भाग 2 में।

कहानी कैसी लगी इसबारे में नीचे कॉमेंट करे।

Related Stories

Sexy Lund Ki Garmi – सेक्सी लंड की गर्मी

Sexy Lund की कहानी में पढ़ें कि पड़ोस में आये परिवार का एक जवान लड़का मुझे पसंद करने लगा था। मैं भी उस जवान sexy lund से चुदना चाहती थी। हैलो, मेरा नाम समीरा है। आप Antarvasna Hindi Sex Stories पर मेरी दो कहानियो मेंहोटल रूम में मैं खुल कर चुदी। पढ़ चुके हैं। Antarvasna

पूरी कहानी पढ़ें »

मजबूरी में चुदाई का काम – Call boy sex job service

Antarvasana के सभी पाठकों को का मेरे यानी गुरप्रीत की तरफ से स्वागत है। उम्मीद करता हु की आपको Antarvasna की सभी chudai ki kahani बहुत पसंद आती होगी। यह मेरी दूसरी kahani है। मेरी पहली sex kahani आप सब ने पढ़ी ही होगी। जिन्होंने मेरी पहली call boy kahani नहीं पढ़ी मै उनके लिए

पूरी कहानी पढ़ें »

Bhabhi Ki Chudai – चॉल वाली भाभी की जोर जोर से चुदाई

मेरा नाम सागर है। मै anatrvasna कि कहानियां को हमेशा ही पढ़ता हु। और पढ़कर मै अपने लंड को हिला कर खुदको शांत कर लेता हु। आज आपको bhabhi ki chudai पढ़ के काफी मजा आने वाला है। Anatarvasna मेरी सबसे favorite story एक दिन अनजान भाभी के साथ ये है। आप भी इसे पढ़िएगा, आपको

पूरी कहानी पढ़ें »