लेडी डॉक्टर की गांड चुदाई

Sexdunia.in पर मेरी ये पहली कहानी है। मैंने Antarvasna पर कहीं कहानियां पढ़ी है। जिससे मुझे Doctor कि चुदाई में बहुत Help हुई। मुझे Antarvasna की सहेली को मेरे पति से मैंने हो चुदवाया यह कहानी बहुत पसंद आई थी। आप भी इसे पढ़िएगा। चलिए मेरी कहानी की शुरुवात करते है।

यह कहानी पिछले महीने की ही है। जब मैं मेरे चाचा के घर दिल्ली गया था। जाने के बाद किसी वजह से मेरे एक पैर में काफी ज्यादा दर्द होने लगा था। मुझे इसका कारण पता नहीं चल पा रहा था। मैंने कई दिन एक Medical Store से दवा भी खाई लेकिन कुछ आराम नहीं मिला। फिर मेरे छोटे भाई ने मुझे एक न्यूरो सर्जन के पास ले जाने के लिए कहा।

मेरा भाई उसको पहले से पहचानता था, इसलिए जल्दी ही हमारा Number वहां पर लग गया।

जब हमारा Number आया तो मैं और मेरा भाई अंदर Cabin में चले गये। वो एक Lady Doctor थी। और देखने में बहुत सी हॉट लग रही थी। मुझे काफी देर तक Check करने के बाद उस Doctor ने कहा कि मुझे Test करवाना पड़ेगा। मैंने उनसे पूछा कि Test के लिए कहाँ जाना होगा?

तो उन्होंने मुझसे कहा की अभी तो काफी सारे Patient आए हुए हैं, आप शाम को 7 बजे आ जाना।

मेरे चाचा के घर पर भी मेहमान आए हुए थे तो Test करवाने के लिए हम लोग शाम के 8 पहुंचे। जब हम पहुंचे तो वहां पर 2-3 Patient ही बैठे थे। आखिर में मेरा ही नम्बर था।

जब मेरी बारी आयी तो वहां पर सिर्फ मेरा भाई और वो Doctor ही थे। फिर Doctor ने कहा कि आपको Test के लिए रूम के अंदर आना पड़ेगा। तो मैं उनके साथ रूम के अंदर चला गया। मेरा भाई वहीं बाहर बैठकर Newspaper पढ़ते हुए मेरा इंतज़ार करने लगा।

मैं Doctor के साथ रूम में अंदर पहुंच गया और अंदर जाकर Doctor बोली की आपको अपनी Pant निकालनी पड़ेगी। क्योंकि आपके पैरों पर मशीन लगानी है।

मैंने उनको कहा की क्या आप बिना पैंट निकाले Test नहीं कर सकते?

मेरे इस सवाल पर Doctor ने कहा की शरमाओ मत! Doctor से शर्माना नहीं चाहिए।

मैंने कहा लेकिन मैं Pant के अंदर कुछ नहीं पहनता हूँ Doctor Madam।

तो इस पर Doctor ने पलटकर जवाब दिया कि कोई बात नहीं, मुझे भी शर्म नहीं आती है!

उस लेडी Doctor ने मेरा भरोसा बढ़ाते हुए कहा की आप Pant निकाल दो और मुझे मेरा काम करने दो।

मैंने धीरे से शरमा ते हुए अपनी पैंट का बटन खोल दिया और नंगा हो गया। मेरा लंड मेरी जांघों के पास देखकर उस Doctor की आँखें फटी की फटी रह गईँ। मेरा 6.4 इंच लंबा और 2.7 सेमी मोटा लंड था। फिर उन्होंने मुझसे कहा कि आप अपनी आँखें बंद कर लो। मै आपको छुऊंगी और आंखें बंद करके मुझे बताना कि आपको कहां पर क्या महसूस होता है। मैंने कहा ठीक है। मै Bed पर लेट गया।

फिर मेरी जांघों पर हाथ फेरते हुए उसने मुझसे पूछा कि आपको कहाँ पर ठंडा लगता है।

मैंने ऐसा ही किया, मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं। मगर जैसे ही मैंने आंखें बंद की, उसकी मोटी गांड मेरी आंखों के सामने आ गई। और उसके बारे में सोचते ही मेरा लंड पूरा ८ इंच लंबा और ३ इंच मोटा हो गया।

मैंने मेरी एक आंख खोलकर देखा तो उस Doctor का मुंह खुला हुआ था। ऐसा लग रहा था जैसे वो मेरे लंड को पकड़ कर चूसना चाहती है। मैंने आंखें खोलकर उसको इशारा किया और इशारे में ही पूछा कि कैसा लगा मेरा खड़ा लंड!

उसने मुझे आंख मारी और मेरे लंड को वासना से देखते हुए इशारा किया।

उसके बाद मैंने उसको मेरा लंड पकड़ कर हिलाने के लिए बोल दिया। वह मेरे लंड को पकड़ कर ज़ोर-ज़ोर से हिलाने लगी। उसके नरम-नरम हाथों में जाकर मेरे लंड को बहुत मज़ा आ रहा था, मेरा मन कर रहा था कि उसकी मोटी गांड में अभी अपना लंड डाल दूँ। लेकिन वो मेरे लंड को हिला-हिलाकर मज़े लेने में Busy थी।

जब कुछ देर तक उसने मेरे लंड को हिलाया तो मैंने उसको अपना लंड चूसने के लिए कहा। लेकिन उसने उस वक्त मना कर दिया। मैंने सोचा कि मैंने उत्तेजना में कुछ ज्यादा ही जल्दी बोल दिया। फिर उसने मुझसे Pant वापस पहनने के लिए बोल दिया। मैंने पैंट वापस पहन ली और उन्होंने कुछ देर तक मुझसे और भी कई सवाल पूछे।

जब उसकी सारी जांच पूरी हो गई तो बाद में हम Room के बाहर आ गए।

बाहर आने के बाद मेरे भाई ने Doctor से पूछा- कोई तकलीफ वाली बात तो नहीं है न?

Doctor ने कहा कोई तक़लीफ की बात तो नहीं है। मैं कुछ दवाईयाँ लिख देती हूं। उनको उसी हिसाब से ले लेना। मगर आपको दवाओं के साथ-साथ Exercise के लिए Clinic पर ही आना पड़ेगा। जब हमने Doctor से पूछा कि कितने बजे आना होगा तो उसने शाम को 7 बजे का Time बता दिया। मैं अब रोज़ शाम को Exercise के लिए जाने लगा।

तीन दिन बाद जब मेरा पैर ठीक हो गया तो शाम को मैं अपने पैर का फिर से चेक-अप करवाने के लिए गया। उसने मेरा पैर देखा और कहा कि अब आपका पैर ठीक हो गया है। अब आपको चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है। और यह आपको अब आने की कोई ज़रूरत भी नहीं। उस वक्त हम दोनों वहाँ पर अकेले ही थे।

मैंने Doctor से उसकी Fees के बारे में पूछा तो वो बोली कि मुझे फीस नहीं चाहिए, हाँ लेकिन अगर आप कुछ कर सकते हैं तो………….?

मैंने भी कामुक होकर पूछा कि और क्या करवाना है आपको…..?

वो बोली आप अपने लंड से मुझे खुशी दे सकते हो क्या?

Lady Doctor के मुंह से यह बात सुनकर मैंने उसको वहीं पर पकड़ कर Kiss करना शुरू कर दिया और उसके बड़े बड़े Boobs को ऊपर से ही दबाने और मसलने लगा। थोड़ी ही देर में वो गर्म हो गई। और उसने मेरे लंड को बाहर निकाल लिया और हाथ में लेकर बड़े प्यार से हिलाने लगी। उसे मेरा लंड बहुत पसंद आ गया था। मेरा लंड भी पूरे जोश में तना हुआ था। मेरे मन में भी उसकी बड़ी गांड़ चल रही थी।

मैंने धीरे-धीरे उस लेडी Doctor के कपड़े उतारने शुरू कर दिए। मैंने उसको पूरी नंगी कर दिया। उसके चूचों के बीच में उभरी काली चूचियों को हल्के से रगड़ रगड़ कर उसे और अधिक उत्तेजित कर दिया। वो मेरे लंड को हिलाती हुई कामुक सिसकारियाँ मरने लगी।

वो कहने लगी की इकबाल … तुम्हारा लंड बहुत मोटा और लंबा है, मेरी चूत और गांड को फाड़ देगा  ये तो?

मैंने उसके होठों को चूमना शुरू कर दिया और उसकी गांड को भी साथ-साथ दबाना चालू कर दिया। मेरा लंड पूरे जोश में आ चुका था। कुछ देर उसके होठों को kiss करने के बाद मैंने उसको घुटनों पर बैठा लिया। इस तरह उसका मुंह मेरे लंड की सामने में आ गया।

मैंने उसके मुंह में अपना लंड दे दिया। और वो मेरे लंड को बड़ा मज़ा लेकर चूसने लगी। मेरे मुंह से भी आनंद की सिसकारिया निकलने लगीं। मैं उसको अपना लंड चुसवाने लगा। वो मेरे लंड को गले तक पूरा अंदर ले जा रही थी। मुझे उसकी लंड चुसाई में बहुत ही मज़ा आ रहा था।

बीच-बीच में मैं अपने लंड को उसके मुंह से बाहर निकाल कर उसके चेहरे पर फिरा रहा था। वो मेरे लंड को चाटने लगी थी जैसे कोई आइसक्रीम को चाट रहा हो। उसके होठों की लाली मेरे लंड पर लग गई थी।

जब चूसते हुए उसका मुंह दुखने लगा तो उसने मेरे लंड को चूसना बंद कर दिया। और अचानक से उठकर खड़ी हो गई। और फिर उसने मेरा मुंह पकड़कर अपनी चूत पर घुसेड़ लिया। मैं समझ गया कि यह अपनी चूत चाटने के लिए कह रही है।

मैंने उसको Bed पर लेटा लिया और उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया। उसकी चूत से हल्का-हल्का रस निकलना शुरू हो गया था। जिसका स्वाद मेरे मुंह में भी जा रहा था। मेरी पूरी ज़बान उसकी चूत में अंदर तक जा रही थी। मैं भी बहुत मज़ा लेकर उसकी चूत को चाट रहा था।

वो बहुत ही ज्यादा गर्म हो गई थी, उसने मुझसे कहा- इकबाल, अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है, आज तुम मेरी चूत और गांड दोनों को ही फाड़ दो। तुम्हारा लंड बहुत ही मोटा है।

यह सुनकर मैंने उसके पैरों को मेरे कंधे पर रखवा लिया और अपने लंड को उसकी चूत पर सेट कर दिया। मैंने एक ज़ोर का धक्का मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में जा घुसा। उसकी चूत गरम होने के कारण उसकी चीख निकल गई- आह्ह्ह …

वो दर्द के मारे तड़पने लगी, मैं कुछ देर के लिए वहीं पर रुक गया।

मैंने उसकी आंखो में देखा। उसकी आखों में मुझे वासना के अलावा कुछ नहीं दिख रहा था।

फिर मैंने उसे धीरे धीरे धक्के मारना चालू किया। कुछ हो समय में उसे मजा आने लगा। मैंने उसे चोदने की speed बढ़ा ली। 10 मिनट तक मै उसे उसी position में चोदता रहा। 

फिर मैंने उसे घोड़ी बना लिया और और उसकी चूत चोदने लगा। 5 मिनट में ही वो संतुष्ट हो गई। मुझे उसकी गांड़ का छेद दिख रहा था। फिर मैंने उसकी चूत से लंड निकाल कर उसकी गांड़ में डाल दिया।

उसकी चीखे निकलने लगी। अअह्ह्ह्ह………आह…….आह…………धीरे से…….

लेकिन मै पूरे जोश में था। मै उसकी गांड़ जोर जोर से चोद रहा था। कुछ देर में उसको भी मजा आने लगा। करीब करीब 25 मिनट कि चुदाई के बाद मेरा झड़ने का Time आ गया। और मै उसकी गांड़ में ही झड़ गया।

फिर हमने कपड़े पहन लिए। मैंने डॉक्टर से पूछा की, क्या आपको मजा आया। तो वो बोली की हा मुझे बहुत मजा आया। तो मैंने उनको अपना mobile number दे दिया। और बोला कि अगर आपको कभी भी मेरी याद आयी तो मुझे बुला लेना।

कहानी कैसी लगी इस बारे में नीचे Comment करे।

Related Stories

Sexy Lund Ki Garmi – सेक्सी लंड की गर्मी

Sexy Lund की कहानी में पढ़ें कि पड़ोस में आये परिवार का एक जवान लड़का मुझे पसंद करने लगा था। मैं भी उस जवान sexy lund से चुदना चाहती थी। हैलो, मेरा नाम समीरा है। आप Antarvasna Hindi Sex Stories पर मेरी दो कहानियो मेंहोटल रूम में मैं खुल कर चुदी। पढ़ चुके हैं। Antarvasna

पूरी कहानी पढ़ें »

मजबूरी में चुदाई का काम – Call boy sex job service

Antarvasana के सभी पाठकों को का मेरे यानी गुरप्रीत की तरफ से स्वागत है। उम्मीद करता हु की आपको Antarvasna की सभी chudai ki kahani बहुत पसंद आती होगी। यह मेरी दूसरी kahani है। मेरी पहली sex kahani आप सब ने पढ़ी ही होगी। जिन्होंने मेरी पहली call boy kahani नहीं पढ़ी मै उनके लिए

पूरी कहानी पढ़ें »

Bhabhi Ki Chudai – चॉल वाली भाभी की जोर जोर से चुदाई

मेरा नाम सागर है। मै anatrvasna कि कहानियां को हमेशा ही पढ़ता हु। और पढ़कर मै अपने लंड को हिला कर खुदको शांत कर लेता हु। आज आपको bhabhi ki chudai पढ़ के काफी मजा आने वाला है। Anatarvasna मेरी सबसे favorite story एक दिन अनजान भाभी के साथ ये है। आप भी इसे पढ़िएगा, आपको

पूरी कहानी पढ़ें »